रुधिर और लसीका में अंतर | difference between blood and lymph- Hindi various info Various info Studytoper

Ashok Nayak
0

रुधिर और लसीका में अंतर (difference between blood and lymph)

लसीका क्या है, रुधिर और लसीका में अंतर क्या है- दोस्तों आज हम आपको रक्त और लसीका विषय के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे। जिसमें आज हम निम्न मुख्य बिंदुओं को कवर करेंगे जैसे रक्त क्या है, रक्त या रुधिर के घटक, प्लाजा, रुधिर कणिकाएँ, लसीका क्या है, लसीका के कार्य, रक्त और लसीका के बीच अंतर, और महत्वपूर्ण वैकल्पिक प्रश्न आदि। आइये शुरू करते हैं।

Table Of contents (TOC)

रुधिर और लसीका में अंतर | difference between blood and lymph- Hindi various info



रक्त/रुधिर क्या है ( what is blood )

रक्त संयोजी ऊतक का एक रूप है और क्योंकि यह द्रव की तरह बह सकता है, इसलिए इसे द्रव संयोजी ऊतक कहा जाता है।

यह वाहिकाओं के माध्यम से शरीर के हर हिस्से में प्रवाहित होती है और पदार्थों के परिवहन का कार्य करती है। इसलिए इसे परिसंचारी ऊतक भी कहते हैं।

रक्त का मुख्य कार्य फेफड़ों से ऑक्सीजन को शरीर के सभी भागों में ले जाना और कार्बन डाइऑक्साइड को शरीर के अंगों से फेफड़ों तक ले जाना है।

इसके अलावा, पोषक तत्व, गैर-आवश्यक पदार्थ, हार्मोन आदि भी रक्त के द्वारा शरीर के एक भाग से दूसरे भाग में पहुँचाए जाते हैं।

मानव शरीर में रक्त की मात्रा शरीर के वजन का लगभग 7 से 8% होती है।

इस प्रकार, एक स्वस्थ मानव शरीर में औसतन लगभग 70 किलो वजन में लगभग 5 से 5.5 लीटर रक्त होता है।

पुरुषों की तुलना में महिलाओं में रक्त की मात्रा कम होती है।


रुधिर के भाग या घटक

इसके दो प्रमुख घटक है-
(1) प्लाज्मा और (2) रुधिर कणिकाएं

(1) प्लाज्मा (plasma)-

  • यह हल्के पीले रंग का तरल होता है।
  • इसमें 55 से 60% रक्त होता है। इसमें 90 से 92 प्रतिशत पानी होता है। और शेष 8 से 10% में कई प्रकार के कार्बनिक और अकार्बनिक पदार्थ होते हैं।
  • इसमें कार्बनिक पदार्थों में मुख्य रूप से सोडियम क्लोराइड और सोडियम बाइकार्बोनेट होते हैं।
  • इसके अलावा, कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम के फॉस्फेट और बाइकार्बोनेट की थोड़ी मात्रा पाई जाती है।
  • इस कारण रक्त थोड़ा क्षारीय होता है।
  • और कार्बनिक पदार्थों में अमीनो एसिड, ग्लूकोज, फैटी एसिड, ग्लिसरॉल, प्रोटीन, अमोनिया, यूरिया और यूरिक एसिड, फॉस्फोलिपिड, कोलेस्ट्रॉल और कुछ विटामिन होते हैं।


(2) रुधिर कणिकाएं (Blood Corpuscles)

यह रक्त का 40 से 45% हिस्सा होता है।

रक्त कोशिकाएं तीन प्रकार की होती हैं-

(1) लाल रक्त कोशिकाएं

(2) श्वेत रक्त कोशिकाएं

(3) प्लेटलेट्स

लाल रक्त कोशिकाओं में हीमोग्लोबिन नामक आयरन युक्त प्रोटीन होता है। जिसमें हीमो पिगमेंट होता है, इसका रंग लाल होता है।

इसी कारण रक्त कणिकाओं का रंग लाल होता है और इसी कारण रक्त का रंग लाल होता है।

लसीका क्या है? ( what is lymph )

  • यह एक रंगहीन तरल है। जो ऊतकों और रक्त वाहिकाओं के बीच की जगह में पाया जाता है।
  • लसीका हमेशा ऊतकों से हृदय तक एक दिशा में बहती है।
  • यह रक्त प्लाज्मा का वह हिस्सा है जो रक्त केशिकाओं में मौजूद होता है।
  • यह केशिकाओं की पतली दीवारों से विसरण द्वारा बनता है।
  • यह सफेद रक्त कोशिकाओं (WBC) को बाहर लाता है। लेकिन इसमें लाल रक्त कोशिकाएं (आरबीसी) नहीं होती हैं।
  • लेकिन इसमें लिम्फोसाइटों की मात्रा उतनी ही होती है जितनी रक्त और इसमें थोड़ी मात्रा में कैल्शियम और फास्फोरस आयन पाए जाते हैं।
  • विभिन्न अंगों के ऊतकों के संपर्क के कारण, ग्लूकोज, अमीनो एसिड, फैटी एसिड, विटामिन, लवण और उत्सर्जक पदार्थ (सीओ 2 यूरिया) भी लसीका तक पहुंचते हैं।


लसीका का कार्य (work of lymph)

  1. लसीका का मुख्य कार्य यह है कि लसीका ऊतकीय द्रव और रक्त प्रणाली में उन पदार्थों को वापस लाता है जो धमनी केशिकाओं से विसरित होते हैं।
  2. लसीका केशिकाओं के बीच भोजन, गैस, हार्मोन के संचरण के माध्यम के रूप में कार्य करता है।
  3. लसीका घाव भरने में मदद करता है।
  4. लसीका प्रणाली रक्त संचार प्रणाली का एक हिस्सा है।

रुधिर और लसीका में अंतर (difference between blood and lymph)

क्र० सं०रुधिरलसीका
1रुधिर सामान्य तरल संयोजी ऊतक है।लसीका छना हुआ रुधिर है।
2 यह गहरे लाल रंग का तरल ऊतक है। यह रंगहीन तरल ऊतक है।
3RBC उपस्थित होती है।RBC अनुपस्थित होती है।
4WBC उपस्थित होती है परंतु कम मात्रा में। WBC अधिक मात्रा में पाई जाती है।
5 प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है। प्रोटीन कम मात्रा में पाई जाती है।
6न्यूट्रोफिल की संख्या बहुत अधिक होती है।लिम्फोसाइट्स की संख्या बहुत अधिक होती है।
7 रुधिर में ऑक्सिजन व अन्य पोषक पदार्थ अधिक होते हैं। लसीका में ऑक्सीजन व अन्य पोषक पदार्थ कम मात्रा में पाए जाते हैं।
8 रुधिर में कार्बन डाइऑक्साइड तथा उत्सर्जी पदार्थों की मात्रा सामान्य होती है।लसीका में कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जित पदार्थ अधिक मात्रा में पाए जाते हैं।


महत्वपूर्ण प्रश्न

प्रश्न – 1 – प्लाज्मा का रंग क्या होता है ?

उत्तर – पीला

प्रश्न – 2 – रुधिर का निर्माण किससे होता है ?

उत्तर – लाल रुधिर कणिकाएं, श्वेत रुधिर कणिकाएं, प्लाज्मा,प्लेटलेट्स

प्रश्न – 3 – रुधिर में कितने प्रतिशत रुधिर कणिकाएं होती है ?

उत्तर – 40 से 45%

प्रश्न – 4 – लाल रुधिर कणिकाओं में कौन सा प्रोटीन पाया जाता है ?

उत्तर – लौह प्रोटीन जिसे होमोग्लोबिन कहा जाता है।

प्रश्न – 5 – रुधिर का PH मान कितना होता है?

रक्त का pH मान 7.4 होता है

प्रश्न – 6 – रुधिर की खोज किसने की?

इसकी की खोज  कार्ल लैंडस्टीनर ने की।

प्रश्न – 7 –  रुधिर घटक या ब्लड ग्रुप की खोज किसने की?

ब्लड ग्रुप की खोज कार्ल लैंडस्टीनर ने की।

प्रश्न – 8 – रुधिर परिसंचरण (blood circulatory system) की खोज किसने की ?

इसकी खोज विलियम हार्वे ने की।

प्रश्न – 9– WBC का उत्पादन तथा RBC का विनाश कहा पर होता है?

यह दोनों कार्य प्लीहा में होते है।

दोस्तों आपको यह लेख पढ़ने के बाद कैसा लगा हमें कमेंट में जरूर बताएं और यह भी बताएं कि आपको इस लेख द्वारा दी गई सभी जानकारी कैसी लगी और आप संतुष्ट हैं या नहीं।

Tags- रुधिर और लसीका में अंतर लिखिए, रक्त और लसीका में अंतर, रुधिर क्या है,लसीका क्या है, लसीका का कार्य,प्लाज्मा क्या है, प्लाज्मा में कौन-कौन से पदार्थ पाए जाते हैं, रक्त के भाग, रुधिर का PH मान क्या होता है, रुधिर का PH मान कितना होता है, ब्लड ग्रुप की खोज किसने की,रुधिर की खोज किसने की, रक्त की खोज किसने की, रुधिर परिसंचरण की खोज किसने की,ब्लड सर्कुलेटरी सिस्टम की खोज किसने की, लसीका और रुधिर में अंतर, लसीका और रक्त में क्या अंतर है, difference between blood and lymph,rudhir aur laseeka me antar,rakt aur laseeka me antar,



Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
Post a Comment (0)

READ ALSO- 

google ads
Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !